Searching...
Wednesday, June 13, 2018

यूपीपीएससी : अफसरों व संदिग्ध चयनितों से पूछताछ, सीबीआइ ने भर्ती के मूल रिकार्ड समेत मुख्यालय दिल्ली में किया तलब

8:26:00 PM

पीसीएस मेंस 2017 के भविष्य पर फैसला आज1पीसीएस 2017 की मुख्य परीक्षा का भविष्य गुरुवार को तय होगा। शीर्ष कोर्ट से प्रारंभिक परीक्षा के परिणाम में संशोधन की याचिका पर फैसला 14 जून को सुनाया जाएगा। पीसीएस 2017 की प्रारंभिक परीक्षा में एक या दो नंबर से अनुत्तीर्ण हुए दर्जनों अभ्यर्थियों ने शीर्ष कोर्ट में विशेष अपील दाखिल की थी। इनका कहना है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रारंभिक परीक्षा में एक प्रश्न को गलत मानते हुए रद करने और दो के उत्तरों में बदलाव करने के लिए आयोग को निर्देश दिया था। आयोग ने इसका पालन न करते हुए शीर्ष कोर्ट में एसएलपी दाखिल की, जिस पर स्टे हुआ और मुख्य परीक्षा कराई जाने की तारीखें घोषित कर दी हैं।
पीसीएस मेंस की मूल कॉपियां सीबीआइ के पास1पीसीएस 2015 परीक्षा में मेंस की सभी मूल उत्तर पुस्तिकाएं अब सीबीआइ के पास हैं। आयोग ने इनकी फोटो कॉपी कराकर उनकी सत्यापित प्रति अपने पास रिकार्ड के रूप में रखी है, जबकि मूल कापियां सीबीआइ को सौंप दी हैं। इन कॉपियों का सीबीआइ ने परीक्षण शुरू कर दिया है।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद 1पीसीएस 2015 परीक्षा सहित अन्य भर्तियों में गड़बड़ी की जांच कर रहे सीबीआइ अफसरों ने गोपनीयता भंग होने से बचने के लिए अब दिल्ली मुख्यालय में पूछताछ शुरू की है। उप्र लोकसेवा आयोग के कई अधिकारियों को परीक्षा संबंधित अभिलेखों के साथ दिल्ली बुलाया गया है। सीबीआइ ने उन चयनितों से भी पूछताछ की है जिनकी उत्तर पुस्तिकाओं में दिए गए नंबरों में काटछांट मिली है और जिनकी कॉपियों में विशेष तरह के पहचान वाले चिह्न् बने पाए गए थे। 1आयोग के परीक्षा विभाग, गोपन और अतिगोपन विभाग में कार्यरत अधिकारियों को सीबीआइ ने मूल रिकार्ड सहित तलब किया। जांच में मिली गंभीर खामियों पर सीबीआइ ने हर गड़बड़ी से संबंधित अधिकारियों से पूछताछ की है। कई और अधिकारियों को जल्द ही दिल्ली मुख्यालय बुलाया गया है। इन सभी को भी मूल रिकार्ड लेकर जाना है। हालांकि आयोग से दिल्ली जाने के दौरान सीबीआइ की इन अधिकारियों पर बराबर निगरानी हुई जिससे कि रिकार्ड से न तो छेड़छाड़ होने पाए और न ही उन्हें बुलाए जाने की सूचना कहीं से लीक हो सके। इस बीच एसपी राजीव रंजन सहित अन्य विशेषज्ञों ने कई जिलों में कार्यरत उन प्रशासनिक अधिकारियों को भी मुख्यालय बुलाकर पूछताछ की है जिनके चयन में गड़बड़ी पाई गई है। सूत्रों के अनुसार इनमें पीसीएस 2015 के चयनित डिप्टी कलेक्टर, डिप्टी एसपी व खाद्य और आपूर्ति विभाग में तैनात अधिकारियों को बुलाया गया था। इनमें कई चयनितों से इलाहाबाद स्थित कैंप कार्यालय में पूछताछ पहले भी हो चुकी है उन्हें कहा गया था कि जरूरत पड़ने पर फिर बुलाया जा सकता है।

0 comments:

Post a Comment