Searching...
Saturday, October 19, 2019

UPPSC : पुख्ता तैयारी में जुटी रही सीबीआइ, हाईकोर्ट में आज रखेगी अपना पक्ष, भर्ती परीक्षाओं में जांच का मामला

5:23:00 PM
UPPSC : पुख्ता तैयारी में जुटी रही सीबीआइ, हाईकोर्ट में आज रखेगी अपना पक्ष, भर्ती परीक्षाओं में जांच का मामला।





UPPSC : शिकायतों की समीक्षा में जुटी सीबीआइ, सीबीआइ को मिली हैं सौ से अधिक नई शिकायतें।


शिकायतों की समीक्षा में जुटी सीबीआइ

  • October 30, 2019

राज्य ब्यूरो, प्रयागराज: उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की परीक्षाओं व परिणामों की जांच कर रही सीबीआइ नई शिकायतों की समीक्षा में जुटी है। विजेंद्र कुमार को सीबीआइ का नया जांच अधिकारी बनाए जाने के बाद सौ से अधिक शिकायतें हुई हैं। विभिन्न भर्ती परीक्षाओं के अभ्यर्थियों से मिली शिकायतों के तथ्यों की समीक्षा शुरू कर दी गई है। अगर तथ्य जांच के अनुरूप मिलेंगे तो उसके आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी। जरूरत पड़ने पर उसके आधार पर आयोग के पूर्व व मौजूदा अधिकारियों, कर्मचारियों से पूछताछ भी की जाएगी।
उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की 2012 से 2017 तक की भर्ती परीक्षाओं व जारी हुए परिणामों की जांच कर रही सीबीआइ अब नई शिकायतों की जांच कर रही है। यही कारण है कि सीबीआइ के नए जांच अधिकारी ने बीते सप्ताह अपने प्रयागराज दौरे पर लगातार दो दिन तक प्रतियोगी छात्रों से सीधे मुलाकात की थी। साथ ही अपना ई-मेल व पता सार्वजनिक करके शिकायत मांगी है। उन्हें एक सप्ताह के अंदर सौ से अधिक शिकायतें भेजी गई हैं। सीबीआइ उसके तथ्यों की पड़ताल में जुटी है। अधिकतर शिकायतें सीधी भर्ती के तहत हुई विभिन्न विभागों में प्रवक्ता, चिकित्साधिकारी, प्राचार्य, इंजीनियर, डॉक्टरों, कुलसचिवों की नियुक्ति को लेकर की गई हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश न्यायिक सिविल जज परीक्षा 2012, 2013, अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2006, 2008, 2009, 2013 व विशेष चयन 2004, 2006, 2008, समीक्षा अधिकारी/सहायक समीक्षा अधिकारी 2010, 2013, 2014, सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा 2007, 2008, विशेष चयन 2008, अपर निजी सचिव 2010 की भर्ती को लेकर भी शिकायतें की गई है। इसमें मनमाना नंबर बढ़ाने, योग्य अभ्यर्थियों को फेल करने, परीक्षा केंद्र निर्धारण व साक्षात्कार में नियमों का पालन न करने की बात कही गई है।






लोक सेवा आयोग : सीबीआइ की तेजी से आयोग के कर्मचारियों की  उड़ी नींद, 31 अक्टूबर को सीबीआइ हाईकोर्ट में रखेगी अपना पक्ष।







UPPSC : सीबीआई कैम्प कार्यालय में बढ़ गयी हलचल, आयोग से लिए गए दस्तावेजों की हुई जांच पड़ताल।








लोक सेवा आयोग : सीबीआई ने पूर्व सचिव से भी शुरू कर दी पूछताछ, पूर्व परीक्षा नियंत्रक का पांचवें दिन सीबीआई से हुआ सामना।

नियम विरुद्घ कार्य पर पूर्व परीक्षा नियंत्रक से कड़ी पूछताछ

  • October 26, 2019





राज्य ब्यूरो, प्रयागराज : सपा शासन में उप्र लोकसेवा आयोग से हुई भर्तियों की छानबीन जारी है। सीबीआइ की टीम के निशाने पर पूर्व परीक्षा नियंत्रक हैं। उनसे लगातार पांचवें दिन नियम विरुद्ध कार्य पर कड़ी पूछताछ की गई। जांच टीम ने उन्हें कई रिकॉर्ड दिखाकर जवाब मांगा, हालांकि पूर्व परीक्षा नियंत्रक अधिकांश प्रकरणों में यह कहकर पल्ला झाड़ते रहे कि यह आयोग का निर्णय था, वहीं कुछ सवालों पर चुप्पी साध ली।
यूपीपीएससी की ओर से हुई भर्तियों की सीबीआइ जांच वैसे तो साल भर से चल रही है लेकिन, इधर कई माह से रफ्तार काफी धीमी रही है। अब उसमें एकाएक फिर तेजी आ गई है। सीबीआइ टीम नए जांच अधिकारी की अगुवाई में आयोग मुख्यालय पहुंची थी। विजेंद्र कुमार कुछ दिन जांच करने व शिकायतकर्ताओं के मिलने के बाद नई दिल्ली वापस लौट गए हैं लेकिन, उनकी एक टीम रिकॉर्ड खंगालने के साथ ही पूछताछ कर रही है।

















UPPSC : गड़बड़ी का ब्योरा देख सकते में आए पूर्व परीक्षा नियंत्रक, दिनभर डटी रही सीबीआइ।



सीबीआइ ने दागे सवाल, सहमे पूर्व परीक्षा नियंत्रक

  • October 24, 2019










राज्य ब्यूरो, प्रयागराज : उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की भर्ती परीक्षाओं की गड़बड़ी पकड़ने के लिए सीबीआइ का रुख धीरे-धीरे सख्त हो रहा है। सीबीआइ की टीम बुधवार को दिनभर आयोग में डटी रही। टीम के निशाने पर रहे आयोग के एक पूर्व परीक्षा नियंत्रक। सीबीआइ ने उनसे एक के बाद एक कई सवाल दागे। कुछ सवालों का जवाब दे पाए, जबकि कुछ में मौन धारण किए रहे। पूर्व परीक्षा नियंत्रक के अलावा आयोग के मौजूदा अधिकारी व कर्मचारी भी पूछताछ के लिए बुलाए गए।
यूपीपीएससी की ओर से बीते सालों में कराई गई भर्ती परीक्षा व जारी किए गए परिणामों में काफी गड़बड़ी की शिकायत मिली है। पेपर लीक होने के साथ मनमाने तरीके से नंबर बढ़ाने की शिकायत अभ्यर्थियों की ओर से की गई। सीबीआइ के नए जांच अधिकारी विजेंद्र कुमार ने मंगलवार को अभ्यर्थियों से मिलकर उनका पक्ष जाना, फिर बुधवार की पड़ताल उसी के अनुरूप आगे बढ़ाई गई। इसके लिए पूर्व परीक्षा नियंत्रक को लगातार तीसरे दिन पूछताछ के लिए आयोग बुलाया गया।

उप्र लोकसेवा आयोग में दिनभर चला पूछताछ का दौर, अधिकारियों से भी ली गई जरूरी जानकारियां
प्रयागराज : लोकसेवा आयोग की भर्ती परीक्षाओं में गड़बड़ी की सीबीआइ जांच शीघ्र पूरी करने की मांग को लेकर हाईकोर्ट में दाखिल याचिका पर सुनवाई बढ़ गई है। प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के प्रवक्ता अवनीश पांडेय की ओर से दाखिल याचिका पर 31 अक्टूबर को सुनवाई होगी। यह आदेश न्यायमूर्ति सुधीर अग्रवाल व न्यायमूर्ति राजीव मिश्र की खंडपीठ ने दिया है। सीबीआइ लोकसेवा आयोग द्वारा 2012 से 2017 तक कराई गई सभी परीक्षाओं व जारी किए गए परिणामों की जांच कर रही है।










UPPSC : सीबीआई ने अभ्यर्थियों के दर्ज किए बयान, शिकायतकर्ताओं ने सौंपे गड़बड़ी से जुड़े दस्तावेज, भर्ती परीक्षाओं की जांच का मामला।


शिकायतकर्ताओं ने सीबीआइ को सौंपे गड़बड़ी से जुड़े दस्तावेज

  • October 23, 2019











राज्य ब्यूरो, प्रयागराज : भर्ती परीक्षाओं में हुई धांधली की तह तक जाने के लिए सीबीआइ पड़ताल में जुट गई है। उप्र लोकसेवा आयोग में घंटों दस्तावेज खंगालने व पूछताछ करने का सिलसिला जारी है। सीबीआइ के नए जांच अधिकारी विजेंद्र कुमार ने मंगलवार को अकेले शिकायतकर्ताओं से मिलकर उनकी बातें सुनी। गो¨वदपुर स्थित कैंप कार्यालय पर सुबह नौ बजे शुरू हुआ मुलाकात कर सिलसिला 11 बजे तक चला।

प्रयागराज, मुरादाबाद, जौनपुर, लखनऊ, मेरठ, वाराणसी से आए 40 के लगभग अभ्यर्थियों ने परीक्षा व परिणाम में हुई धांधली से जुड़े दस्तावेज सौंपे। यूपीपीएससी 2012 से 2017 तक कराई गई भर्ती परीक्षाओं व घोषित किए गए परिणामों में गड़बड़ी की शिकायत है। सीबीआइ उसी की पड़ताल में जुटी है। कैंप कार्यालय में शिकायतकर्ताओं को बुलाया गया था। शिकायतकर्ताओं ने पीसीएस 2012, उत्तर प्रदेश न्यायिक सिविल जज परीक्षा 2012, 2013, अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2006, 2008, 2009, 2013, समीक्षा अधिकारी/सहायक समीक्षा अधिकारी 2010, 2013, 2014, सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा 2007, 2008, सम्मिलित राज्य अवर अभियंत्रण परीक्षा 2006, 2008 जैसी परीक्षाओं में जांची गई कापियों में बाद में नंबर बढ़ाने, कंप्यूटर में दर्ज डाटा से छेड़छाड़ व पेपर लीक करने की शिकायत करके उससे जुड़े कुछ दस्तावेज दिया है। जांच अधिकारी विजेंद्र ने सबकी बातों को सुना व उससे जुड़े दस्तावेजों को रख लिया है।
10 से 15 मिनट सुनीं बातें
सीबीआइ के जांच अधिकारी विजेंद्र कुमार ने हर शिकायतकर्ता को अपनी बात रखने के लिए 10 मिनट का समय दिया। समूह में आने वाले अभ्यर्थियों की 15 मिनट तक बातें सुनीं। इस मुलाकात के चलते वह 11.30 बजे आयोग गए। उन्हें अपनी टीम के साथ 10 बजे से पहले आयोग जाना था।

’>>विभिन्न जनपदों के अभ्यर्थी नए जांच अधिकारी से मिले
’>>गोविंदपुर स्थित सीबीआइ कैंप कार्यालय पर घंटों चली मुलाकात
पूर्व परीक्षा नियंत्रक से फिर की गई पूछताछ
आयोग के पूर्व परीक्षा नियंत्रक से सोमवार को शुरू हुआ पूछताछ का सिलसिला मंगलवार को भी जारी रहा। सीबीआइ की टीम उन्हें लेकर आयोग गई। वहां अलग-अलग परीक्षाओं को लेकर दिनभर पूछताछ की गई।
सवाल सुनकर आया पसीना
सीबीआइ की टीम ने मंगलवार को आयोग के कंप्यूटर सेक्शन की गहनता से जांच की। कंप्यूटर विशेषज्ञों के साथ सेक्शन के एक अधिकारी से पूछताछ की गई। अधिकारी से कंप्यूटर में अपलोड डाटा में हुए छेड़छाड़ से जुड़े सवाल पूछे, जिसे सुनकर उन्हें पसीना आ गया। इस दौरान कई कंप्यूटरों में दर्ज डाटा की पड़ताल की गई तो उसमें काफी गड़बड़ी मिली।









UPPSC : भर्ती घोटाला : सीबीआई ने पूर्व परीक्षा नियंत्रक से की पूछताछ, आयोग में दर्ज किया गया बयान, खंगाला गया परीक्षा विभाग।






------–-----––------------



सीबीआइ ने की पूछताछ, पकड़ी खामी

  • October 21, 2019















राज्य ब्यूरो, प्रयागराज : उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) की भर्ती प्रक्रिया की जांच कर रही सीबीआइ ने अपनी कार्रवाई तेज कर दिया है। गड़बड़ी का पता लगाने के लिए सीबीआइ ने रविवार को कई लोगों से पूछताछ किया। आयोग में स्थित अपने कक्ष में सीबीआइ ने कुछ अधिकारियों व कर्मचारियों को तलब किया।
वहीं गो¨वदपुर स्थित कैंप कार्यालय में भर्ती परीक्षाओं में गड़बड़ी होने की शिकायत करने वाले लोगों को बुलाकर जवाल-जवाब किया। इसके साथ ही सीबीआइ की टीम आयोग के कुछ सेवानिवृत्त अधिकारियों से मिलने उनके घर भी गई। सवाल-जवाब के दौरान टीम को कुछ खामियां भी पकड़ी है, जिससे आगे की कार्रवाई उसी दिशा में बढ़ाई जा सकती है। सीबीआइ यूपीपीएससी द्वारा वर्ष 2012 से 2016 तक कराई गई सभी परीक्षाओं व जारी किए गए परिणामों की जांच कर रही है। इसमें तकरीबन 550 से अधिक भर्ती परीक्षाओं व परिणामों की जांच होनी है। इसके मद्देनजर सीबीआइ की टीम बीच-बीच में पूछताछ करने प्रयागराज आती है। इसके पहले 20 से 24 सितंबर तक सीबीआइ ने आयोग में आकर अपनी पड़ताल किया। सीबीआइ ने तब पीसीएस 2011 व 15 के साथ एपीएस 2010 की भर्ती से जुड़ी फाइलों को खंगालने के साथ कंप्यूटर में दर्ज परीक्षा से जुड़े ब्योरा को जांचा था। इस बार पीसीएस 2015 के अलावा अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2006, 2008 व 2009 की परीक्षाओं को लेकर पड़ताल चल रही है। पीसीएस 2015 की परीक्षा में सीबीआइ को स्केलिंग व मॉडरेशन में बड़ी गड़बड़ी पकड़ी है। एक ही प्रश्न के उत्तर को कंप्यूटर में कई बार बढ़ाया गया है। वहीं अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2006 व 2009 की जंची कापियों में कई बार नंबर काटकर बढ़ाने की गड़बड़ी पकड़ी गई है। इन दोनों परीक्षाओं से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों से कापी में नंबर काटकर बढ़ाने के बारे में पूछा गया तो वह कोई उत्तर नहीं दे सके। सीबीआइ आगे भी अपनी पड़ताल जारी रखेगी।








UPPSC : आयोग ने पांच साल की भर्तियों की जांच के लिए नया अधिकारी किया नियुक्त, विजेंद्र कुमार की अगुवाई में खंगाली जाएंगी भर्तियां।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

0 comments:

Post a Comment