Searching...
Tuesday, August 13, 2019

साक्षात्कार को लेकर आयोग व अफसर आमने-सामने, असिस्टेंट प्रोफेसर पद के साक्षात्कार का मामला

5:26:00 PM
साक्षात्कार को लेकर आयोग व अफसर आमने-सामने, असिस्टेंट प्रोफेसर पद के साक्षात्कार का मामला।

साक्षात्कार को लेकर आयोग व अफसर आमने-सामने
August 14, 2019

  
राज्य ब्यूरो, प्रयागराज : असिस्टेंट प्रोफेसर पद के साक्षात्कार में उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग दो खेमों में बंट गया है। आयोग में कार्यरत अधिकारी अध्यक्ष व सदस्यों पर नियम बदलकर साक्षात्कार लेने का आरोप लगा रहे हैं। अधिकारियों ने इसकी लिखित शिकायत अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा से की है। वहीं, अपर मुख्य सचिव ने आयोग के अध्यक्ष से पूरे मामले में जवाब मांगा है। जवाब उन्हें इसी सप्ताह में देने को कहा गया है।
उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग में 29 जुलाई से प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर के खाली पदों को भरने के लिए विज्ञापन संख्या 46 व 47 का साक्षात्कार चल रहा है। साक्षात्कार के हर पैनल में आयोग का एक सदस्य व तीन विशेषज्ञ बैठते हैं। आयोग की नियमावली में साक्षात्कार में शामिल सारे विशेषज्ञों व सदस्य को अभ्यर्थी के जवाब का मूल्यांकन करके नंबर देने का अधिकार दिया गया है। लेकिन, आयोग ने नया नियम लागू करते हुए विशेषज्ञों को नंबर के बजाय ग्रेड देने का निर्देश दिया है। सबसे ग्रेड लेकर आयोग के सदस्य अभ्यर्थियों को नंबर देते हैं।

इसके विरोध में आयोग के अधिकारियों ने 31 जुलाई को उच्च शिक्षा के अपर मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। विभाग ने आयोग के अध्यक्ष से पूरे मामले में जवाब मांगा है। आयोग अध्यक्ष प्रो. ईश्वर शरण विश्वकर्मा बदले नियम के बारे में खुलकर कुछ बताने से कतराते हैं।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

0 comments:

Post a Comment