Searching...
Wednesday, July 31, 2019

UPPSC : लिखित में पास, इंटरव्यू में बुलावा नहीं, डायट प्रवक्ता के अभ्यर्थियों ने आयोग अध्यक्ष से मिलकर रखी अपनी बात

6:18:00 PM
किसी को मिला आश्वासन, कोई लौटा निराश
August 01, 2019


  
राज्य ब्यूरो, प्रयागराज : उप्र लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) में बुधवार को फिर अभ्यर्थी जुटे। इनमें कई ऐसे थे जो लंबित परीक्षा व परिणाम को लेकर त्वरित कार्रवाई होने का आश्वासन लेकर लौटे। वहीं कई ऐसे भी थे जो आयोग के अध्यक्ष डॉ. प्रभात कुमार से न मिल पाने के कारण निराश लौटे। अलग-अलग जिलों से आये कई अभ्यर्थी अध्यक्ष से मिलकर उन्हें अपनी दिक्कत बताने को उतावले थे, लेकिन ई-मेल के जरिए समय न लेने के कारण उन्हें मिलने का मौका नहीं मिला। हरदोई से आये पीसीएस 2017 के विपिन शर्मा उन्हीं अभ्यर्थियों में शामिल हैं।
विपिन दोपहर 12 से शाम पांच बजे तक आयोग का चक्कर काटते रहे, लेकिन उन्हें मिलने का मौका नहीं मिला। विपिन का कहना है कि यूपीएससी की परीक्षा में सोशल वर्क, डिफेंस जैसे विषय नहीं हैं, जबकि लोकसेवा आयोग की परीक्षा में यह विषय शामिल हैं। वह चाहते हैं कि यूपीपीएससी इन विषयों को हटा दे। स्टाफ नर्स 2017 की अभ्यर्थी सलोनी देवी दिल्ली से आयी थीं। उन्होंने समय नहीं लिया था। बाराबंकी के मोहित अग्रवाल, लखनऊ के विनय सिंह, मथुरा की रजनी सहित कई अभ्यर्थी अध्यक्ष से नहीं मिल सके। वहीं पीसीएस 2018 के अभ्यर्थी आशीष का प्री में नंबर कटऑफ में 125 था। संशोधित उत्तरकुंजी में नंबर बढ़कर 126 हो गया, लेकिन साक्षात्कार के लिए नहीं बुलाया। पीआरओ पुष्कर श्रीवास्तव ने बताया कि सहायक अभियंता संघ के प्रतिनिधिमंडल ने उनके विभाग से जुड़ी परीक्षाओं को नियमित कराने की मांग की। गोंडा, गोरखपुर, लखनऊ, फतेहपुर, वाराणसी, गाजीपुर, मेरठ सहित अनेक जिलों से आए अभ्यर्थियों ने आयोग अध्यक्ष से मिलकर अपनी समस्याएं बताईं, जिसका त्वरित समाधान करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

साक्षात्कार की सूची से नाम गायब : मेरठ से आए राहुल सिंह डायट प्रवक्ता शारीरिक शिक्षा विषय के 2013-14 के अभ्यर्थी हैं। लिखित परीक्षा में इनका नंबर 68वें स्थान पर था, लेकिन साक्षात्कार के लिए जारी 366 अभ्यर्थियों की सूची में इनका नाम नहीं था। आयोग अध्यक्ष ने मामले की जांच करके कार्रवाई का भरोसा दिया है।

भर्ती निकालने की मांग : उत्तर प्रदेश सहायक अभियंता की भर्ती 2013 के बाद न मिलने पर अभ्यर्थियों में निराशा है। प्रदीप कुमार, सिद्धार्थ मिश्र व राजेश गुप्त सहित अनेक अभ्यर्थियों ने आयोग अध्यक्ष से इस पद की रुकी भर्ती जल्द निकालने की मांग की।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

0 comments:

Post a Comment